Get Back To Writing After A Long Break

जिंदगी मे हमारे पास अक्सर दो रास्ते होते है । एक  जिस पर हम चल रहे है  और एक जिस पर हम  चलना चाहते है । दोनो अक्सर हमे तब मिल जाते है जब एक रास्ते की मंजिल काफी करीब होती है । ऐसा मैंने तो कई बार महसूस किया है । कई बार वो रास्ता जिस पर मैं चल रहा हू उस रास्ते के पडाव और लोग मुझे उस रास्ते से दूर करते है जिस पर मैं चलना चाहता हू ।

लिखने का शौक काफी वक्त पहले  लगा और तब से अब तक बहुत कुछ लिखा है । वैसे शुरुवात मे ये सिर्फ एक तरीका था कुछ अलग करने का क्योंकी इंजिनियरिंग ने कुछ अलग करने का कीडा लगा दिया था । खैर तब शायद इंजिनियर्स  का  लेखक बनने  का दौर शुरु हुआ था । चेतन भगत हम जैसे लेखको के लिये एक वो फोटो फ्रेम थे जिसमे हम जैसे लेखक अपने को देखना  चाहते थे ।

खैर इसी दौर मे कई बार हुआ जब ब्लाग पर बहुत कम लिखना हुआ । आप माने या ना माने मैंने अब तक 4 ब्लाग बनाये है और किसी ना किसी कारण से डीलीट  भी कर दिये ।  परंतु हर ब्लाग से एक नयी बात सिखी है जैसे हर सेमेस्टर मे एक ना एक सब्जेक्ट  और किस्से सिखाते  थे ।  ये मेरा पाचंवा ब्लाग है और अब तक जो भी हर ब्लाग ने सिखाया मैंने इस पर उसे सुधारा ।

कुछ वक्त पहले मैंने अपनी पहली किताब PCO(पी.सी.ओ ) Amazon पर publish की और शायद ये मेरी जिंदगी के उस रास्ते  का सबसे पहला पडाव था । उस किताब को लिखने के बाद मुझे वैसा ही  सूकून  मिला जैसा हमे तब मिलता है जब शाम को घर आये और एक कप अदरक  वाली चाय सीधा  हाथ मे आ जाये ।

how to get back to writing after a long break

अब अगली एक किताब पर काम कर रहा हू और पढ भी रहा हू । मैं हमेशा मानता हू process सही होनी चाहिये result के बारे मे नही सोचना चाहिये । अगर हम result के बारे मे सोचे तो फिर शायद हम एक या कुछ मंजिले पाकर रुक सकते है । पर  process को improve करने का हमेशा मौका रहता है ।

जब भी आपको लगे के वो रास्ता जिस पर आप चलना चाहते है और चल नही पा रहे तो बस कुछ देर उस रास्ते पर रुकिये जिस पर आप अभी चल रहे है और बस एक कदम उस रास्ते पर चलिये जिस पर आप दिल से चलना चाहते है । जब आप एक कदम बढायेंगे तो अपने आप दुसरा कदम उसके साथ चलने  लगेगा

कुछ दिनो से ब्लाग पर कुछ लिखा नही था । हा लिख तो रहा था पर ब्लाग पर नही । इसे मैं समय की कमी नही कहूंगा क्योंकी आप चाहे तो किसी भी काम के लिये वक्त निकाल सकते है । आज फिर से वापसी है  और अब रोज़ एक पोस्ट लिखने की कोशिश  करता रहूंगा ।

How To Get Back To Writing After A Long Break | How To Get Back To Writing Poetry | How To Get Back Into Creative Writing | How To Get Back Into Writing Fanfiction | How To Get Back Into Your Writing

How to do SEO in Hindi

Sachin Tendulkar Centuries

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

सचिन बस नाम ही काफी हैं –
भाग-2

आस्ट्रेलिया के विकटो पर तेज उछ्लती गेंदो का सामना करना ही हिम्मत का काम होता है और अगर मर्व ह्यूज और क्रेग मैकडेरमौट जैसे गेंदबाज जब गेंदबाजी कर रहे हो तो बैट्समेन  की हिम्मत मे कमी आना स्वाभाविक हैं | सर डॉन ब्रेडमैन की जमीन पर सचिन ने पहली बार कदम रखा था और आस्ट्रेलियाई दर्शको ने देखा एशिया का शेर जो विश्व क्रिकेट का नया डॉन बनने की राह पर चल पडा था|

वैसे तो अपने पहले  टेस्ट  शतक के बाद आस्ट्रेलिया के क्रिकेट के सबसे पुराने opposition ने उन्हे होशियार रहने  के लिये  कह दिया  होगा  और उन्होने  इसकी  तैय्यारी  भी  की होगी  ।

Third Test Between India and Australia at Sydney

2 जनवरी 1992 को भारत सीरिज का अपना तीसरा टेस्ट खेलने Sydney Cricket Ground पर पहुचा | पहले मैच मे भारत  को 10 विकेट और दुसरे  मैच  मे  8 विकेट से आस्ट्रेलिया  ने हरा  दिया  था |

भारत ने टास जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया था| आस्ट्रेलिया की पहली पारी 313 रन पर समाप्त हुई| जिसमे डेविड बून के नाट आऊट 129 रन भी शामिल थे|

जवाब मे भारत के दो विकेट 79 पर गिर गये थे| उसके बाद वेंगसरकर और रवि शास्त्री ने 111 रन की साझेदारी करके स्कोर को 197 पर पहुचा दिया था| 197 रन पर वेंगसरकर शास्त्री का साथ छोड गये और चार रन बाद ही 201 पर अजहर भी पवैलियन लौट गये थे| अजहर के बाद सचिन क्रीज पर आये और शुरु हुआ बल्लेबाजी की किताब का एक नया अध्याय जो आस्ट्रेलियाई दर्शको ने पहली बार देखा था|



Sachin Tendulkar Centuries



युवा सचिन ने जिस तरह से ह्यूज और मैकडेरमौट का सामना किया वो तारीफ के काबिल था| उन्होने रवि शास्त्री के साथ मिलकर पाचवे विकेट के लिये 196 रन की साझेदारी करी थी| जब भारत का स्कोर 397 था तब शास्त्री शानदार 206 रन बनाकर शैन वार्न का पहला टेस्ट शिकार बने| जी हा ये वार्न का पहला टेस्ट मैच था|

पहली बार इस मैच मे सचिन और वार्न आमने सामने थे|भारत की पारी 483 रन पर समाप्त हुई| सचिन अंत तक आऊट नही हुये और शानदार 148 रन बनाये| जिसमे उन्होने 14 बार गेंद को सीमारेखा के पार पहुचाया| इस शतक के साथ वो आस्ट्रेलिया मे शतक लगाने वाले सबसे युवा खिलाडी बन गये थे| उन्होने 298 मिनिट बल्लेबाजी करी थी|

आस्ट्रेलिया ने दुसरी पारी मे 173 रन बनाये 8 विकेट खोकर और मैच ड्रा हो गया|

सचिन की इस पारी पर आस्ट्रेलिया के शानदार तेज गेंदबाज मर्व ह्यूज ने एलन बार्डर से कहा था “ ये लडका तुमसे भी ज्यादा रन बनायेगा|”

इस पारी से उन्होने अपनी प्रतिभा और क्षमता को साबित करा था|

अगली कडी मे पढिये कैसे सचिन ने दुनिया की सबसे तेज पिच पर दिखाया अपना जलवा|

Sachin Tendulkar first century | सचिन बस नाम ही काफी हैं -1

Sachin Tendulkar Centuries | Sachin Tendulkar Centuries |Sachin Tendulkar Centuries In T20 |Sachin Tendulkar Stats | Sachin Tendulkar Stats | Sachin Tendulkar Family | Sachin Tendulkar Biography | Sachin Tendulkar Centuries Year Wise | Sachin Tendulkar Education | Sachin Tendulkar History | Anjali Tendulkar | Virat Kohli Centuries

Hindi Short Story Writing

धुआ ….ना जाने किस ओर ले जाये

Short Story Writing

हर कश मे धुआ उड रहा था और हर पल मे उसे ये अहसास हो रहा था के उसने जिंदगी मे जो भी खोया वो अब पाना आसान नही है.कहते है के गुजरा वक्त वापस नही आता. तभी उसकी नजरे जो चिलम के नशे मे डूबी हुई थी.उठी और एक व्यक्ति पर टीक गई..मानो जैसे खराब घडी की सुई हो.

Short Story Writing

पर खराब घडी भी दिन मे 2 बार सही समय बताती है.शायद ये सही समय है…वो व्यक्ति कुछ वक्त पहले उसी की तरह बैठकर चिलम से इश्क लडाता था.उसी ने तो इसकी दोस्ती इस मुई चिलम से करवाई थी.परंतु पिछले  कुछ महीनो से वो नजर नही आ रहा था.

अचानक उसके कानो मे आवाज़ आयी…”भागो  पुलिस आई है.” इस आवाज़ को कानो से दिमाग तक पहुचने मे कुछ वक्त लगा और इतनी देर मे उसके हाथो मे बेडिया बंध चुकी थी.

रास्ते मे सब लोग पुलिस जीप मे बात कर रहे थे के अपने बाप के मरने के बाद इसने ये सब छोडकर अपनी बची हुई पढाई की और आज इंस्पेकटर बन चुका  है.

ये सब सुनकर उसका दिमाग चकरा गया और उसे याद आया के वो आज सुबह अपने बाप के लिये दवाई लेने  निकला  था.

If you like my blog , subscribe my blog so that you will get all the new post directly in your mail.Also make a comment and share this post on your social media pages. ALSO tell me on what you like most about this blog.THANK YOU.

Also Read: https://www.bharatdarshan.co.nz/literature-collection/2/51/hindi-story.html

Short Story Writing , Short Story Writing In English , Short Story Writing Examples, How To Write A Short Story Outline , How To Write A Short Story Step By Step , Story Writing Format, Planning A Short Story, Short Story Structure, How To Write A Short Story Step By Step Pdf,Story Writing Tips For Beginners

How to do SEO in Hindi

After reading this post you will be able to do basic SEO of your Hindi Blog.

In Today’s world, Online Money Making is one of that things which everyone is chasing. Everyone wants to earn money by just type some article, stories, news, videos and other digital marketing content. But, it is not a piece of cake to earn money online especially by Google Adsense.

To get huge traffic on your blog or website you need to learn some key aspects of SEO. There is a huge number of websites are available in the internet world to learn SEO. But, what if your content is not in English or what if you are writing in Hindi. Then it is not easy to do SEO of your post and pages.

In this article, you will get to know some basic tips to do SEO for your posts written in Hindi.

We will be understanding this tutorial “How to do SEO in Hindi”  step by step:-

First of all, you need to install a plugin which will help you in doing SEO. In this post, I will be guiding you about the Yoast SEO Plugin and other tips for doing SEO.

  • Click on Posts->Add New in your Word press Dashboard.

How to do SEO in Hindi

  • After that, you need to decide the title of your post ( if you have not decided yet).Your title should resemble your post and it can be in Hindi.
  • Then go to GOOGLE and type in English(yes English) title of your post. It can be the exact converted statement of your title or you can select some other title in English according to your post.

For example, you are writing posts on “Election process in India or Election Commission of India or your view on upcoming elections in India”.

Type in Google “Election in India”  or “Election Results India” or any other title similar to it.you will find a different suggestion in google as a dropdown list as below:-

How to do SEO in Hindi
How to do SEO in Hindi

You need to copy all the suggestion and put them in below format:-

Election Results India | Election Results India 2014 | Election Results India 2019 | Election Results India Date | Election Results India Map | Election Results Indiatimes | Election Results India Tv Live | Election Results India 2018 December | Election Results India Update | Election Results India Latest

 You can also make this out of the suggestion after searching one of the search terms like:-

How to do SEO in Hindi

Also save above suggestions in below format:-

Election Results India, Election Results India 2014, Election Results India 2019, Election Results India Date, Election Results India Map, Election Results Indiatimes, Election Results India Tv Live, Election Results India 2018 December,  Election Results India Update, Election Results India Latest

  • Now you post your content in the Paragraph block of WordPress and in title section use the title you choose here I am choosing ” Election Results India”.
  • In your post heading, you can mention the title “Election Results India | YOUR POST’S ORIGINAL TITLE.
  • Next, you need to select a Focus Keyword. This will be the keyword on which your post will be found or search on the internet.
  • At the bottom of this Add New Post, you will find Yoast Plugin Interface and you need to enter Focus Keyword as below:-
How to do SEO in Hindi

After entering the focus keyword, you need to enter the Meta Description and in this, you need to enter the first format of suggestions we made above.

Election Results India | Election Results India 2014 | Election Results India 2019 | Election Results India Date | Election Results India Map | Election Results Indiatimes | Election Results India Tv Live | Election Results India 2018 December | Election Results India Update | Election Results India Latest

In the metadata, it might possible that the focus keyword will be over optimized and you will check it in  Yoast as below:-

How to do SEO in Hindi
  • You need to modify the statements in Meta Description like you can change Election Results India 2014 to Results India 2014 or Results 2014.
  • Also, you need to put the focus keyword in the Alt attribute of every image you use.
  • You will need to put the below format at the end of your post and its font size should be 10 and made it bold, italic.
  • At last, an SEO bubble should be green after doing some more changes like adding internal and external links.
How to do SEO in Hindi

This is a step by step process to do SEO of your Hindi website or Hindi Blog.

Also Read:- Nervous Nineties