दो पल

दो पल जो हमारे साथ हो जाते ,

जिंदगी की कहानी कुछ और ही होती ,


तुम्हारी हाँ हो जाती और,

उससे इस चातक की प्यास बुझ जाती. 

proposing-a-girl

मुश्किल से काटी हैं अब तक जिंदगी 

कांटो भरी राहो को बनाई हैं अपनी सरजमीं . 

 

दो पल जो और मिल जाते ,

तुमसे कह देते हम दिल की बातें .

 

तुम्हे देखते ही पहली बार ,

सोचा तुमसे कह देंगे ये ,

के तुम ही हो मेरे दिलदार .

 

परन्तु इस दुनिया की उधेड़बुन में रह गए ,

और तुम किसी और के हो गए .

 

दो पल में  हमने सोचा क्या होता हैं ,

पर अब हुआ हैं हमें अवबोध .

 

दो पल मैंने हमने गवाई हैं ,

सबसे अनमोल वस्तु 

दो पल की कीमत जो हम समझते ,

आज तुम हमारे होते 


दो पल के बारे में सोच कर 

हर दिन कई पल गवाते हैं 

आज भी उस दो पल को याद कर 

आँसू बहाते हैं

(चिराग )

3 thoughts on “दो पल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *