Poems

मेरे महबूब

वो लटे तेरे बालो की  कुछ कहती वो निगाहे तेरी होठ तेरे सुर्ख लाल  करते हैं कमाल    वो चुलबुला अंदाज़  वो मीठी सी आवाज़ जब जब देखता हूँ तेरी हसीं  उस दिन का सबसे खुशनसीब पल होता हैं  वो मेरे लिए चाहता हूँ कोई ऐसी जगह हो जहाँ बस Read more…

By Chirag Joshi, ago