Poems

खवाहिशे

हैं हुस्न का जलवा तेरा तू हैं एक ख्याल मेरा   जब वो बारिश की बुँदे , तेरी लटो को भिगोती हुई  तेरे लबो तक आती हैं  मेरी धड़कन बढ़ा देती हैं  वो तेरे तीखे नैना , चाहते हैं मुझसे कुछ कहना  लब बोलना नही चाहते हैं  पर शब्द गिरने Read more…

By Chirag Joshi, ago