Poems

कौन रहता है इस शहर में …..

कौन रहता हैं इस शहर में , अनजाने लोग जहा मिलते है अब  कौन रहता है इस शहर में, रातो के साए जहा आते नहीं अब  बंद दरवाजे है , खिड़की पर ताले है , चोखट पर धुल नहीं है अब  कौन रहता है इस शहर में …..   ख्वाब Read more…

By Chirag Joshi, ago