तिरभिन्नाट पोहा

तिरभिन्नाट पोहा-पप्पू भिया का रिजाईन

“ क्या भिया ? बोत दिन से दिख नी रिये हो । पेले रविवार भी तुम्हारा इंतेजार किया हमने नी-नी करके 2 घंटे तक राजू को पोहे नी बनान दिये के यार रुक जा अभी आ रिये होयेंगे पप्पू भिया Read more…

By chiragjoshi, ago
Travel

देहरादून डायरी- टपकेश्वर मंदिर

10 जून 2016 को जब मुझे ये पता लगा के मेरा सिलेक्शन डी.आई.टी यूनिवर्सिटी मे हुआ । तब मैंने सबसे पहले इस शहर के बारे मे ही सोचा और मेरी सोच मे ये शहर पहाडो पर बसा हुआ था । Read more…

By chiragjoshi, ago
तिरभिन्नाट पोहा

तिरभिन्नाट पोहा-पप्पू भिया का लैपटाप

“ हैलो……. कौन “ अबे बारीक मैं बोल रिया हू । “ अरे वाह यार भिया गजब कर रीये हो , इधर से भी तो मैं ही बोल रिया हू ” । “ अबे ओ पंचर , मैं पप्पू बोल Read more…

By chiragjoshi, ago
तिरभिन्नाट पोहा

तिरभिन्नाट पोहा-इसके बिना जिंदगी खत्म भिया

भियाओ…. कैसे हो सब लोग । क्या चल रिया है । तो मतलब ऐसे करोगे मतलब … मैं देहरादून क्या आ गिया । तुम सब अपने को भूल ही गिये । बहुत दिन से सोच रिया था मैं के तुम Read more…

By chiragjoshi, ago
Uncategorized

आपका Whats App स्टेट्स क्या है ?

जिंदगी मे आपके नाम से आपकी पहचान हो जरुरी नही है । परंतु सोशल मिडिया पर आपके पहचान आपके स्टेट्स हो ये अक्सर होता है । फेसबूक हो या व्हाट्सएप वहा आपने क्या पोस्ट की है या क्या स्टेट्स लिखा Read more…

By chiragjoshi, ago
Uncategorized

WOW-Mind Your Language-क्योंकी हिंदी मॉ ने सिखायी है

भाषा इस दुनिया के निर्माण  का एक अहम हिस्सा है । जैसे हवा और पानी जीने के लिये जरुरी है । ठीक उसी तरह भाषा के बगैर इस दुनिया की कल्पना भी नही की जा सकती है । इस दुनिया Read more…

By chiragjoshi, ago