दोस्त से ज्यादा, पर गर्लफ्रेंड,बायफ्रेंड से कम

दोस्त से ज्यादा, पर गर्लफ्रेंड,बायफ्रेंड से कम

कहाँनीया कब और कहा बन जाये हम कह नही सकते, पर एक ऐसी जगह है जहा हर रोज़ , हर पल एक कहाँनी जन्म लेती है । ये जगह शायद इसिलिये ही बनी है और फिर जो भी यहा आता है , वो खुद कई कहाँनीयो के जाल अपने दिमाग मे बुनते रहता है । … Read More

आखरी गलती

  राजीव ने अपने पेन को ऊठाकर अंगूठे और उसके पास वाली उंगली से घुमाने लगा . इस तरह पेन को घुमाने की  कला हर कॉलेज़ जाने वाला स्टूडेंट को कक्षा 12वी से ही आ जाती है. इस कला मे जैसे ही कोई छात्र माहिर हो जाता है उसे लगने लगता है उसने जिंदगी की … Read More

सयानी

कल की  ही तो बात है , जब गुड़िया अपने घर में सबकी लाड़ली बहु बन कर अपने ससुराल में आई थी। अभी शादी को वक्त ही कितना हुआ है ,सिर्फ  २ महीने और देखो ये वही गुड़िया हैं जो घर के सारे काम सिख गई है। सही कह रही हो काकी , अपने घर … Read More

रिश्वत : Short Stories

Short Stories |Short Stories In Hindi | Short Stories For Kids | Short Stories With Moral     वो हर रोज की तरह फिर घर से निकल पडा,एक फाईल मे अपने मेहनत के पसीने से सिंच कर उगाये उन कागज़ के टुकडो को जिन पर उसे बहुत नाज़ था. जैसे ही वो आफिस के बाहर … Read More